नौकरी रोजगार अंतर क्या है नौकरी रोजगार में “Naukri Vs Rojgar”

नौकरी रोजगार अंतर और परीभाषा, डिफरेंस, महत्व को इस लेख में समझते हैं जो आपको विस्तार से और सटीक जानकारी प्रदान करेगी!

जो कई एग्जाम और बिभिन्न जगह पर आपके काम आयेगी!

नौकरी रोजगार अंतर | Naukri Vs Rojgar

[ A ] चलिए हम पहले नौकरी क्या है समझते हैं

जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है आप इसे ‘नौकर’ शब्द से जोड़कर देखें तोह अच्छी तरह से हम समझ पायेंगे ! नौकर वो है जो दुसरे के द्वारा दी गयी काम को पूरा करता है! मतलब जो काम देता है
वो हमारे मालिक हुए, हम उमके दिए काम को कर देंगे तो हमे काम के हिसाब से उसका मेहनताना दिया जाता है और हम इस तरह से संबोधित करते हैं की हम XYZ के यहाँ नौकरी करते हैं !
मुझे लगता है नौकरी की सटीक परिभाषा यही है!

अब नौकरी के प्रकार कितने हैं

नौकरी के प्रकार की बात करें तो

( १ ) “सरकारी-नौकरी” जो की लगभग हर भारतीय के पहली पसंद होती है, क्योंकि आप अगर किसी तरह से दिन-रात मेहनत करके पा लेते हैं, तो बांकी की जिदन्गी कम से कम, नौकरी खोने के डर से निकल जाते हैं!

अगर आप इमानदार हैं तोह यकीन मानिये आप जीवन के हर मोर पे सफल होंगे ! मगर सरकारी नौकरी मिलना इतना आसन नहीं होता इसके लिए आपको प्रतियोगिता परीक्षा पास करनी होती है इसमें भी आरक्षण होती है कुछ सरकारी जॉब्स बिना परीक्षा के भी श्रेणी में आती है!


चाहे राज्य सरकार की नौकरी हो या केन्द्रीय-सरकार की, ये तोह साफ़ है की ये सरकारी नौकर बनना इतना आसान नही हैं सरकारी नौकरी बालों की शादी भी आसानी से हो जाती हैं क्यूंकि भारत में ये सोच है की आप ‘ROJGAR’ से कितने भी कमा लो, लोग सरकारी-नौकरी ही पहली पसंद होती है बेटियों की माता पिता की !

तो मैं कहना चाहूँगा की आपभी ट्राई सरकारी जॉब्स करें !

( २ ) इसके बाद आती है “अर्द्ध-सरकारी-नौकरी’ – भईया ये आधी सरकारी और आधी प्राइवेट होती है मूलतः ये कंपनियां सरकार के देखरेख में चलती है इसे अंग्रेजी में PSU ( Public Sector Undertaking ) Companies कहा जाता हैं !

पर इसमें भी सामान्य तौर पे आपकी जॉब्स सुरक्षित होती है !

और आप जीवन का आनंद अच्छे तरह से ले पाओगे ! मैं यहाँ कुछ कंपनी का नाम लेना चाहूँगा भेल इंडिया, इंडियन ओइल कारपोरेशन लिमिटेड ( आईओसीएल ), ओइल इंडिया कारपोरेशन लिमिटेड (ओएनजीसी ), गेल, SAIL [ Steel Authority OF India Ltd. ], कोल इंडिया, एचपी,बीपीसीएल, एनटीपीसी इत्यादी!

( ३ ) “प्राइवेट-नौकरी” – प्राइवेट कंपनी द्वारा जो नौकरी प्रदान की जाती है, और इन कंपनी में काम करने बाले प्राइवेट नौकरी कर रहें होते हैं कुछ विशेष कंपनी को छोड़ दे तोह, बांकी जगह पर काम करते हुए, कब आप काम कर रहे हो और कब आपकी नौकरी ( जॉब ) से निकाल दी जाओ पता नही चल पायेगा !

( ४) किसी व्यक्ति यहाँ काम करने बाले – तोह इनकी काम बस इतनी होती की आप काम करें और अपना मेहनताना लें, इसे दैनिक नौकर या नौकरी कह लें तो बेहतर होगा !


कुछ उदाहरण देना चाहूँगा, जैसे ईट भट्टा पे काम करने बाले, सीमेंट और अन्य सामान निर्माण और अन्य क्षेत्रों में दैनिक पे पर काम करने बाले, हेल्पर [ किसी काम में सहायता के तौर पर काम करने बाले ],

आपके छोटे छोटे स्किल पे दैनिक मेहताना पे काम करने बाले टाइल्स मिस्त्री, वेल्डर, फिटर, सिविल मिस्त्री, कारपेंटर, कुली इत्यादी !

इन्हीं वर्ग बालों के लिए भारत सरकार ने कई सारी सरकारी योजना लेकर आई है जिनसे इनके आर्थिक स्थिति बेहतर हो !

करियर ‘CAREER’ का परिभाषा क्या होगा

करियर शब्द का प्रयोग उपर दिए गये सरकारीनौकरी, अर्द्धसरकारीनौकरी, और प्राइवेट नौकरी के लिए की जाती है जिससे आपके लक्ष्य और सपने पुरे होते हैं और लोग सामान्यतया कहते हैं मैं इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहूँगा!


जैसे मैं एरोनॉटिक्स इंजिनियर बनना चाहता हूँ!

[ B ] चलिए हम पहले रोजगार क्या है समझते हैं

“रोजगार” शब्द छोटे स्तर के व्यापार से सम्बन्धित है जो की हम खुद से करते है या कम आदमी के सपोर्ट से करते हैं ! हमें किसी के अंदर काम नहीं करनी पडती हैं और हम खुद के रोजगार के मालिक स्वयं हैं!


ना हमे कोई पूछ सकता तुम कब आये, और तुम कब गये! मगर चूँकि आप व्यवसायी कर रहे हो तोह इससे होने बाले फायदे और नुकसान दोनों आपको ही झेलनी पड़ती है!


उदाहरण के तौर पर पान दूकान, इलेक्ट्रिक हार्डवेयर दूकान, दवा दुकान, अन्य दुकान, ब्यूटी पार्लर, आइसक्रीम दुकान, होटल, ठेला पर सब्जी बेचें या मंडी में…

लोगों द्वारा पूछे जाने बाले सवाल : “नौकरी रोजगार अंतर पे”

नौकरी क्या है


नौकर वो है जो दुसरे के द्वारा दी गयी काम को पूरा करता है! मतलब जो काम देता है,

वो हमारे मालिक हुए, हम उमके दिए काम को कर देंगे तो हमे काम के हिसाब से उसका मेहनताना दिया जाता है और हम इस तरह से संबोधित करते हैं की हम XYZ के यहाँ नौकरी करते हैं !

नौकरी के प्रकार कितने हैं


सरकारीनौकरी, अर्द्ध-सरकारी नौकरी, प्राइवेट नौकरी

रोजगार क्या है


“रोजगार” शब्द छोटे स्तर के व्यापार से सम्बन्धित है जैसे कोई दुकान, होटल, ठेला इत्यादि

करियर का परिभाषा क्या होगा


जिससे आपके लक्ष्य और सपने पुरे होते हैं और लोग सामान्यतया कहते हैं मैं इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहूँगा!
जैसे मैं एरोनॉटिक्स इंजिनियर बनना चाहता हूँ!

नोट : ये आर्टिकल के बारे में हमे सोशल मीडिया पर फॉलो करके दें, “नौकरी रोजगार अंतर”

हमारे अन्य पोस्ट पढ़ें

बिहार सरकार की श्रमिक योजना के बारे में

हिन्दू धर्म क्या है और तीर्थ-दर्शन